Loading...
 

अमर के हटने से सपा मजबूत होगी?

हकीकत तो कुछ और है
Author: उपेन्द्र प्रसाद - Published 11-01-2010 09:53 GMT-0000
अमर सिंह के इस्तीफे के बाद समाजवादी पार्टी में जो नाटक शुरू हुआ है, उसका अंत होना अभी बाकी है। हां, फिलहाल यह अनुमान लगाया जा सकता है कि अब अमर सिंह और मुलायम सिंह यादव के बीच जो दूरी बनी है, वह समाप्त होने वाली नहीं है। मुलायम कह रहे हैं कि अमर सिंह के राम गोपाल से मतभेद हैं और यह समस्या उसी के कारण पैदा हुई है।

ब्राजील जैसी अहमियत चाहिए सोयाबीन को

Author: अशोक बी शर्मा - Published 11-01-2010 09:44 GMT-0000
अमेरिका, ब्राजील, चीन, अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, कनाडा और इटली जैसे तमाम देशों में आम लोगों को सोयाबीन के जरिये पौष्टिक भोजन सुलभ कराने की कोशिश हो रही है लेकिन भारत में सोयाबीन की पहचान सोयामील के ही रूप में ज्यादा होती है। सोया तेल मानव उपभोग में जरूर आता है लेकिन विटामिनों से भरपूर सोयाबीन को दोयम दर्जा ही नसीब हो पाया है। यही वजह है कि भारत में अनुकूल जलवायु होने के बावजूद सोयाबीन की पैदावार को वांछित बढ़ावा नहीं मिल पाया है।

भारत

अमर सिंह का इस्तीफा सपा के चिंताजनक भविष्य का सूचक

Author: अवधेश कुमार - Published 09-01-2010 10:41 GMT-0000
भारतीय राजनीति में जो नेता पिछले एक दशक से भी ज्यादा समय से किसी न किसी कारण हमेशा चर्चा मंे रहे हैं, उनमें अमर सिंह का नाम प्रमुख है। समाजवादी पार्टी के सभी पदों से त्यागपत्र देकर वे फिर सुर्खियों में आ गए हैं। उनके इस्तीफे का अर्थ क्या है?
भारत: आन्ध्र प्रदेश

तेलंगना की गांठ कैसे खुले?

राजनैतिक समझदारी दिखाने की जरूरत
Author: कल्याणी शंकर - Published 08-01-2010 11:59 GMT-0000
तेलंगना का मसला एक ऐसे दुल्हन की तरह है, जो बनठन कर तो तैयार है, लेकिन जो कहीं जा नहीं पा रही हैं। केन्द्र सरकार ने तेलंगना राज्य के गठन की घोषणा तो कर दी है, लेकिन यह फिलहाल संभव होता दिखाई नहीं देता। यदि केन्द्र की सरकार इसे बनाना भी चाहे तो इसमें समय लगेगा।

भारत में बढ़ रही है शहरी गरीबी

Author: विशेष संवाददाता - Published 07-01-2010 16:57 GMT-0000
नई दिल्ली: योजना आयोग के अनुमानों के अनुसार शहरी गरीबों की संख्या 1993-94 और 2004-05 के दौरान 763.40 लाख से बढक़र 808 लाख हो गयी है।

भारत 2010 के जैव विविधता लक्ष्यों के प्रति कटिबद्ध

Author: विशेष संवाददाता - Published 07-01-2010 16:49 GMT-0000
भारत ने जैव विविधता के क्षरण के दर को काफी कम करने के लिए जैव विविधता पर संधि के सदस्य देशों के छठे सम्मेलन में तय लक्ष्यों को हासिल करने के प्रति कटिबद्धता जतायी है।

दिल्ली में जुटे हिंदुस्तान और पाकिस्तान के शांति प्रेमी

Author: एस एन वर्मा - Published 07-01-2010 16:17 GMT-0000
नई दिल्ली। मुबंई हमले के बाद से हिंदुस्तान और पाकिस्तान सरकार के बीच कायम कटू माहौल अभी तक बरकरार है। इसका खामियाजा दोनों देशों के अमन चाहने वाली जनता को भुगतना पड़ रहा है। यह संदेश देने के लिए कल से नई दिल्ली में दोनों देशों के शांति प्रेमिओं की तीन दिवसीय कान्फ्रेंस हो रही है। सम्मेलन में दोनों के देशों के बीच शांति का माहौल तैयार करने के लिए एक रोड मैप भी तैयार किया जाएगा।

कल्याण सिंह की नई पार्टी: रामभरोसे राजनीति

Author: उपेन्द्र प्रसाद - Published 07-01-2010 11:34 GMT-0000
कल्याण सिंह ने अपनी नई पार्टी बना ली है। इस बार उन्होंने अपनी पार्टी का नात रखा है जन क्रांति पार्टी। पिछली बार उन्होंने अपनी पार्टी का नाम रखा था, राष्ट्रीय क्रांति पार्टी। अलग पार्टी बनाकर वे कितनी राजनैतिक सफलता हासिल करते हैं, इसका उनके पास अच्छा अनुभव हो चुका है। इसलिए इस बार उनकी पार्टी बनाने की इच्छा नहीं थी। मुलायम सिंह द्वारा ठुकरा दिए जाने के बाद उन्होंने भाजपा का राग अलापना शुरू कर दिया था। कहने लगे थे कि वे भाजपा को ही मजबूत बनाएंगे, क्योंकि वही पार्टी राम मंदिर का निर्माण करवा सकती है।
भारत

राष्ट्रों का भविष्य अन्न के साथ है, बंदूक के साथ नहीं

Author: विशेष संवाददाता - Published 06-01-2010 13:13 GMT-0000
भारत में भुखमरी बढ ऱही है । आम तौर पर हमारे विश्वास से यह कहीं बहुत अधिक व्यापक है । हरित क्रांति के जनक डॉ एम.एस. स्वामीनाथन ने 97वें भारतीय विज्ञान कांग्रेस में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्रों का भविष्य अन्न के साथ है न कि बंदूकों के ।
भारत: पंजाब

बादल की बड़ी उपलब्धि का दावा खोखला

भाजपा से तकरार और आतंकवाद की दस्तक
Author: बी के चम - Published 06-01-2010 13:09 GMT-0000
चंडीगढ़ः नये साल में सरकार द्वारा नई घोषणाओं का रिवाज अब समाप्त होता जा रहा है, लेकिन फिर भी इस साल की शुरुआत में पंजाब की बादल सरकार ने साल में कुछ नया करके दिखाने की घोषणा की है। सरकार का कहना है कि इस साल अनेक प्रकार की विकास की गतिविधियां होंगी।